दिवाली पूजा करने से पहले जान लें ये बात, वरना प्रसन्न नहीं होंगी लक्ष्मी जी

things to remeber while Diwali Pooja

दिवाली का जश्न 14 नवंबर को पड़ रहा है। दीवाली पर देवी लक्ष्मी और गणेश जी की खुशी आपकी पूजा करने के तरीके से भी जुड़ा है। बस पूजा करना पर्याप्त नहीं है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए उपाय बेहद सरल हैं लेकिन हमे यह ज्ञात नहीं है। माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए पवित्र ग्रंथों में विभिन्न उपचार दिए गए हैं।

गणेश लक्ष्मी की थाली में कुछ विशेष चीजें होना महत्वपूर्ण है। यही नहीं भगवान का आसन और उनकी स्थपना कि दिशा में करें ये भी बहुत मायने रखती है। इस प्रकार, पूजा करने जा रहे हैं, तो सबसे महत्वपूर्ण रूप से कुछ चीजों का ध्यान रख ले और यह भी जान ले के उनकी पूजा की तयारी में क्या चीज़ होती हैं।

कुछ पॉइंट्स याद रखने के लिए

  • माँ लक्ष्मी और भगवान गणेश को पूर्व या पश्चिम में बैठना चाहिए। इसका अर्थ है कि ईश्वर का मुख पूर्व या पश्चिम में हो। इसके अतिरिक्त उन्हें लाल या पीले कपड़े की आसन दें। लक्ष्मीजी गणेश के दाहिनी ओर विराजमान करती हैं।
  • पूजा को गृहलक्ष्मी और मुखिया को साथ मिलकर करना चाहिए । इसी तरह, अन्य व्यक्तियों को भी भगवान के सामने बैठना चाहिए। सभी व्यक्तियों को प्रेम के साथ और अपने पास में एक फूल के साथ बैठना चाहिए, इसे प्रभु को अर्पित करना चाहिए।
  • मां लक्ष्मी के समक्ष चावल के ढेर पर एक कलश रखें और कलश के ऊपर नारियल को लाल वस्त्र में लपेट कर रखें। नारियल का अग्र भाग केवल नजर आना चाहिए।
  • कलश वरुण का प्रतीक है। कलश के पास दो विशाल दिये रखें, एक घी के साथ और दूसरा तेल का दिया के साथ। एक दिया को दाईं तरऊ और दूसरा पैरों पर भगवान के प्रतीक के करीब रखें। भगवान गणेश के नाम एक ज्योति रखें।
  • भगवान के समक्ष छोटी सी चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं और कलश की ओर एक मुट्ठी चावल के साथ कपड़े पर नवग्रह बनाएं।
  • गणेशजी के समक्ष चावल की सोलह चित्र बनाएं, जिन्हें मातृ का प्रतिक माना जाता है। नवग्रह और षोडश मातृका के बीच स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं।
  • अब इसमें सुपारी रखें, छोटे चौकी के सामने तीन थाली और जल भरकर कलश रखें।

अब थाली में पूजा की सामग्री रखने के लिए इनमे से कुछ चीजें होनी चाहिए:

11 दीपक रखें थाली में । इसके अतिरिक्त, इसमें खील, बाताशे, मिठाई, वस्त्र, आभूषण, चन्दन का लेप, सिन्दूर, कुंकुम, सुपारी, पान, फूल, दूर्वा, चावल, लौंग, इलायची, केसर-कपूर, हल्दी-चूने का लेप, सुगंधित पदार्थ, धूप अगरबत्ती शामिल होनी चाहिए।

पूजन सामग्री की विस्तृत सूची

अब भगवान की पूजा और आरती करें।

पूजा के बाद, पूरे घर में कपूर की धूप दिखाएं और गंगा जल छिड़कें।

इतना ही नहीं, अगर आप चाहे तो लक्ष्मी पूजन में सुपारी रखें। सुपारी पर लाल धागा लपेटकर अक्षत, कुमकुम, पुष्प आदि पूजन सामग्री से पूजा करें और पूजन के बाद इस सुपारी को तिजोरी में रखें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *